महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा

Mahatma Gandhi Antarrashtriya Hindi VishwaVidyalaya,Wardha

(A Central University established by an Act of Parliament in 1997)

महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा

Mahatma Gandhi Antarrashtriya Hindi VishwaVidyalaya,Wardha

(A Central University established by an Act of Parliament in 1997)

दूर शिक्षा

ऑनलाइन कक्षाएँ ​

सूचना पट्ट

नवीनतम सूचना

दूर शिक्षा

ऑनलाइन कक्षाएँ ​

सूचना पट्ट

नवीनतम सूचना

प्लेसमेंट सेल

जानकारी

संदेश

प्रो. कृष्ण कुमार सिंह

कुलपति

हिंदी भाषा समृद्ध साहित्य के साथ-साथ व्यापक क्षेत्र में प्रयुक्त संप्रेषण का माध्यम भी है। यह विश्वविद्यालय सामाजिक विकास और समाज के एक व्यापक वर्ग की अभिव्यक्ति की संभावनाओं को आकार देने में हिंदी की भूमिका को अधिक सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। भाषा, साहित्य, समाज विज्ञान, पत्रकारिता तथा कला आदि विभिन्न क्षेत्रों में अध्ययन, शोध और नवाचार के अनेक उपक्रमों में यह विश्वविद्यालय संलग्न है। हमें ज्ञान परंपरा को आगे बढ़ाने में भी अपना योगदान देने की जरूरत है। हिंदी पूरे विश्वा में बोली और समझी जाती है। हिंदी भाषा को ही प्रचारित करने में नहीं अपितु सांस्कृतिक मूल्यों को रक्षित करके आगे ले जाने और आने वाली पीढ़ी को उसे उपलब्ध‍ कराने के लिए भी हमें काम करना है। हम सब को विश्वविद्यालय की बेहतरी के लिए शपथ लेनी चाहिए, यही राष्ट्र के निर्माण में हमारा योगदान होगा। ज्ञान को प्रचारित करने में भाषा कतई बाधा नहीं बननी चाहिए। हमारी सीमाओं को चुनौती के रूप में स्वीकार करते हुए हिंदी भाषा में नए ज्ञान का उत्पादन करने के लिए आगे आना चाहिए और यह हमारे गंभीर चिंतन-मनन का विषय भी होना चाहिए। मुझे विश्वास है कि विश्वविद्यालय परिवार के सभी सदस्य इस कार्य में शामिल होकर उपलब्धि के नए मानदंड स्थापित करेंगे। इस शैक्षणिक एवं सामाजिक प्रयास में आप सबका हार्दिक स्वागत है।

विश्वविद्यालय कुलगीत
अन्य जानकारी
Skip to content