महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा

Mahatma Gandhi Antarrashtriya Hindi VishwaVidyalaya,Wardha

(A Central University established by an Act of Parliament in 1997)

महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा

Mahatma Gandhi Antarrashtriya Hindi VishwaVidyalaya,Wardha

(A Central University established by an Act of Parliament in 1997)

परिचय

लेबोरेट्री इन इनफारमेटिक्स फॉर द लिबरल आर्टस (लीला) प्रयोगशाला सभी आई .टी. शिक्षण संबंधित लर्निंग, रिसर्च और विश्वविद्यालय के आई .टी. विस्तार से संबंधित गतिविधियों का संचालन करती है। यह विद्यार्थियों और शोधकर्ताओं के लिए कंप्यूटर और सूचना प्रौद्योगिकी की सुविधाएँ प्रदान करती है। लीला प्रयोगशाला द्वारा विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के लिए कार्यालय स्वचालन उपकरण के विकास के लिए कार्य किया जा रहा है। साथ ही विश्वविद्यालय की वेबसाइट का रख-रखाव एवं उसे अद्यतन रखना भी लीला की जिम्मेदारी है। विश्वविद्यालय की सभी सूचना प्रौद्यागिकी से संबंधित गतिविधियों के लिए लीला की परिकल्पना एक केंद्रीय सुविधा/संस्थान के रूप में की गई है। पाठ्यक्रमों में सूचना प्रौद्योगिकी के घटकों को पूर्ण करना लीला के दायित्वों में से एक है। इसके तहत एक अनिवार्य कंप्यूटर पाठ्यक्रम ‘मॉडर्न कंप्यूटर एप्लीकेशन्स’ एम.ए. पाठ्यक्रमों के लिए चलाया जा रहा था। जिसे अब राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत परिवर्तित कर चलाया जा रहा रहा है। यह पाठ्यक्रम एम.ए. के सभी पाठ्यक्रमों में एक अनिवार्य विषय के रूप में है। पी.एच.डी. के शोधार्थियों के कोर्स-वर्क के लिए यू.जी.सी. द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुरूप पाठ्यक्रम का निर्माण एवं संचालन किया जा रहा है। इस पाठ्यक्रम का नाम ‘कंप्यूटर संचालन एवं अनुप्रयोग’ है।

शैक्षणिक/गैर शैक्षणिक सदस्य

SYSTEM ANALYST / PROGRAMMER

अंजनी कुमार राय 07152230743 anjani.ray@gmail.com

LEXCON ASSOCIATE GR-1
SOFTWARE ASSOCIATE GR-2
technical assistant
लीला द्वारा विकसित निम्न सॉफ्टवेयर को समय-समय पर अद्यतन किया जाता है :
  • वेतन पंजिका
  • प्रवेश प्रणाली (online and offline)
  • दूर शिक्षा प्रवेश प्रणाली (online and offline)
  • वेबसाइट hindivishwa.org
  • वेबसाइट hindisamay.com
  • विभागीय पुस्तकालय प्रबंधन सॉफ्टवेयर
  • केंद्रीय पुस्तकालय का कंप्यूटरीकरण कोहा सॉफ्टवेयर के साथ किया गया था जिसे अद्यतन किया गया।
संचालित पाठ्यक्रम :
वाईफाई नेटवर्किंग

लीला विभाग द्वारा इंटरनेट और नेटवर्क आधारित अनुप्रयोगों के लिए पूरे विश्वविद्यालय परिसर (लगभग 166 एकड़ क्षेत्र) में नए वाईफ़ाई प्रौद्योगिकी के साथ नेटवर्किंग का कार्य कराया गया है। यह सूविधा विश्वविद्यालय के समस्त कर्मचारियो और छात्रों के लिए शिक्षण एवं अनुसंधान के उद्देश्य की पूर्ति करता है।

ई - पत्रिका

लीला J-STOR और अन्य ई पत्रिकाओं की पहुँच प्राप्त करने के लिए इनफ्लिबनेट (सूचना पुस्तकालय नेटवर्क) से संपर्क किया है। प्रारंभ में इनफ्लिबनेट J-STOR ई-पत्रिका के लिए एसोसिएट सदस्यता दे दी थी बाद में विश्वविद्यालय को इन सभी पत्रिकाओं का फ्रि-एक्सेस मिल गया, ये पत्रिकाऍ मुक्त रूप से केवल विश्वविद्यालय नेटवर्क के माध्यम से उपलब्ध हैं।

विश्वविद्यालय की बेवसाईट (hindivishwa.org)

बींसवी शताब्दी के अंतिम दशक में महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय की स्थापना हुई और लगभग उसके कुछ ही समय पश्चात लीला ने hindivishwa.org वेबसाईट का निर्माण कर 200 MB वेबस्पेस के साथ अपना कार्य आरंभ कर दिया था। hindivishwa.org का मुख्य उद्देश्य न केवल कार्यालयी बेवसाईट बनकर रह जाना बल्कि हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार करना और जन-जन तक यह पहुंचाना कि बहुत से पाठयक्रमों का अध्ययन जो सिर्फ अंग्रेजी भाषा में ही संभव था, अब इस विश्वविद्यालय के माध्यम से हिंदी में भी संभव है। वर्तमान में विश्वविद्यालय की वेबसाईट 10 GB स्पेस के साथ अपने नये रूप मे विद्यापीठ, केन्द सुविधाएं, प्रकाशन, निविदाएं, गतिविधियाँ, दूरस्थ शिक्षा सूचना पट्ट, हिंदी समय आदि लिंक के साथ उपलब्ध है । वेबसाईट पर नियमित पाठ्क्रमों के साथ-साथ सभी कार्यलयीय सूचनाएं, विश्वविद्यालय की गतिविधियां , प्रतिदिन अद्यतन की जाती है। विश्वविद्यलाय द्वारा दूर शिक्षा के अर्न्तगत चलाये जा रहे पाठ्क्रमों से संबंधित लगभग सभी पाठ्क्रमों की पाठय सामग्री वेबसाईट पर उपलब्ध है।

हिंदीसमयडॉटकॉम (hindisamay.com)

हिंदी को विश्वभाषा बनाने के मकसद से विश्वविद्यालय ने दो महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। विदेशों में विश्वविद्यालयों व संस्थाओं में हिंदी व हिंदी माध्यम से विभिन्न अनुशासनों के अध्ययन व अनुसंधान के लिए यह विश्वविद्यालय समन्वयक की भूमिका निभाने जा रहा है तो विश्वभर के हिंदी पाठकों को भारतेंदु से लेकर अब तक के कॉपीराइट मुक्त महत्वपूर्ण हिंदी साहित्य को सुलभ कराने का बीड़ा इसने उठाया है। विश्वविद्यालय की वेबसाईट हिंदीसमयडॉटकॉम पर उत्कृष्ट हिंदी साहित्य के एक लाख पृष्ठ उपलब्ध कराए जा रहे हैं। दूसरे चरण में यह साहित्य विश्व की प्रमुख भाषाओं में उपलब्ध कराया जाएगा। ज्ञान के विभिन्न अनुशासनों में हिंदी में स्तरीय सामग्री उपलब्ध हो सके इसका प्रयास भी विश्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है। स्त्री अध्ययन ]मानविकी तथा फिल्म और नाटक के क्षेत्रों में दुनिया भर की भाषाओं में फैली हुई महत्वपूर्ण पाठय-सामग्री का अनुवाद विश्वविद्यालय कर रहा है और शीघ्र ही यह पाठय-सामग्री विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के साथ ही अन्य अध्येताओं को भी उपलब्ध हो सकेगी। हिंदीसमयडॉटकॉम के अर्न्तगत वर्तमान में उपलब्ध सामग्री इस प्रकार है – उपन्यास, कहानी, कविता, आलोचना, नाटक, हिन्दुस्तानी परम्परा, विभाजन की कहानियां, विविध, कविता पाठ आडियो, ई पुस्तकें आदि।

Contact Us

Magazine Html